लॉकहीड मार्टिन और टाटा संयुक्त उद्यम के तहत F-16 जेट के विंग्स का निर्माण भारत में करेंगे

रक्षा उपकरण निर्माता कंपनी लॉकहीड मार्टिन और टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड (TASL) ने भारत में F-16 लड़ाकू विमान के विंग्स का निर्माण करने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किये। इसका उद्देश्य भारत सरकार के ‘मेक इन इंडिया’ प्रोग्राम तथा लॉकहीड मार्टिन और TASL के बीच साझेदारी को बढ़ावा देना है।

मुख्य बिंदु

लॉकहीड मार्टिन और TASL भारतीय वायुसेना के 114 लड़ाकू विमानों की आपूर्ति के कॉन्ट्रैक्ट को प्राप्त करने के लिए कार्य कर रहे हैं। 114 लड़ाकू विमानों का यह कॉन्ट्रैक्ट लगभग 15 अरब डॉलर का है। इसके कॉन्ट्रैक्ट के लिए निर्माता कंपनी को ‘मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम के तहत भारत में ही लड़ाकू विमानों का निर्माण करना होगा। लॉकहीड मार्टिन ने अपने F-16 निर्माण बेस को भारत में स्थापित करने की पेशकश की है। इससे भारत में निर्माण क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा तथा रोज़गार सृजन होगा। इससे रक्षा उपकरणों में सन्दर्भ में भारत के आयात में कमी आएगी। लॉकहीड मार्टिन और TASL ने पहले भी C-130J (सुपर हर्कुलस एयरलिफ्टर) और S-92 हेलीकाप्टर के निर्माण के लिए समझौता किया था।